" Read and visualize experiences in this beautiful journey of mine and others called Life! "

The Ultimate Gift

Life,life life…..  Its little ineffable. But still with depth. Hard to define,but every time a smell. Create muse with blowing blues, Full of breathe,ENOUGH,if felt with full depth. Is slopy a bit,but so is its nature. Become steep if hardwork is one’s nature. Black clouds may surround, With surely lots of thundering sound. Clouds of […]

Read More
  • 37
  • 377
  • 0

चाँद चाँद

कोई चाँद चाँद कहता रहा, कोई चाँद को अपना बना बैठा, कोई चाँद को तस्वीर में उतार चला, कोई चाँद को रस्मों में बांधता चला, कोई चाँद को देखने की फ़िराक में, बादलों को गले लगाता चला, कोई उड़ान भरता है ये सोच के, की एक दिन तो चाँद को पायेगा, कोई खुद  को चाँद […]

Read More
  • 34
  • 469
  • 0

ख्वाब

ख्वाब भी क्या खूब जरिया है, तुझ तक पहुँचने का, कि जब कभी हक़ीक़त जुदा करती है हमे , हम तेरे ख्वाबों की चादर ओढ़ लेते हैं।

Read More
  • 34
  • 450
  • 0

“हाँ है”

समझते भी हो, इतराते भी, लफ़्ज़ों की लड़ी है साथ, साथ है ख़ामोशी की खंकार भी, मनाते भी हो, छेड़ने का कोई अवसर गंवाते भी नहीं, फिक्र करते हो, ‘नहीं तो’ कहने से कतराते भी नहीं, हर कदम साथ हो, नाराज़ होने पर, चेहरे की  अभिव्यक्ति छिपाते भी नहीं, छिप कर हमारे साथ होने की […]

Read More
  • 33
  • 548
  • 0

कुछ नहीं

वो रूठा होता है (मनाने का इंतज़ार कर रहा होता है), कभी संकोच में, उलझा होता है, कभी बयान ना हो पा रहे जज़्बात में, झूमता है हंसी के साथ, कभी असीम ख़ुशी में, अधूरा होता है, कभी अपने ही बनाये भ्रम में, मुस्कुराता है, खिलखिलाता है अक्सर ये ‘कुछ नहीं’ ये ‘कुछ नहीं’, कहना… […]

Read More
  • 32
  • 1075
  • 2

तेरी मर्ज़ी

तेरी मर्ज़ी ही है, जो आज आप और हम संग हैं, मृगतृष्णा (mirage) जो दिखी, उसे तेरी मर्ज़ी समझ वो पल भी सुकून से जीया है.

Read More
  • 28
  • 423
  • 0

[mainedekhahai]