" Read and visualize experiences in this beautiful journey of mine and others called Life! "

भीगी बारिश

आज बारिश का नया रूप देखा, कुछ अलग नहीं था, पर क्या खूब देखा, पत्तों की हरी मुस्कराहट झूमती हुई, झिम झिम करती आवाज़ धरती की गोद कर चूमती हुई। बचपन के कदम, मस्ती में बढ़ते हुए, कुछ और नहीं तो माटी से एक दूजे को रंगते हुए, बचपन की एक याद चली आई, कागज़ […]

Read More
  • 19
  • 295
  • 0

Solitude

Solitude is the best state of knowing what you really want. Right there, a cup of coffee, a diary and a pen, a breezy evening and you create a story of our own.  

Read More
  • 18
  • 198
  • 4

The Ultimate Gift

Life,life life…..  Its little ineffable. But still with depth. Hard to define,but every time a smell. Create muse with blowing blues, Full of breathe,ENOUGH,if felt with full depth. Is slopy a bit,but so is its nature. Become steep if hardwork is one’s nature. Black clouds may surround, With surely lots of thundering sound. Clouds of […]

Read More
  • 20
  • 143
  • 0

चाँद चाँद

कोई चाँद चाँद कहता रहा, कोई चाँद को अपना बना बैठा, कोई चाँद को तस्वीर में उतार चला, कोई चाँद को रस्मों में बांधता चला, कोई चाँद को देखने की फ़िराक में, बादलों को गले लगाता चला, कोई उड़ान भरता है ये सोच के, की एक दिन तो चाँद को पायेगा, कोई खुद  को चाँद […]

Read More
  • 19
  • 180
  • 0

A Journey to Antarctica – IAE 2017

A Journey to Antarctica, sounds exciting, no! It sounds interesting, very interesting, let me express myself in different words meaning very similar 😉  – exciting, enthralling, unimaginative, reaching out to the impossible ; to me every second from the time I had got to know about the expedition that my friend went in March’17 was […]

Read More
  • 18
  • 142
  • 2

ख्वाब

ख्वाब भी क्या खूब जरिया है, तुझ तक पहुँचने का, कि जब कभी हक़ीक़त जुदा करती है हमे , हम तेरे ख्वाबों की चादर ओढ़ लेते हैं।

Read More
  • 16
  • 159
  • 0

“हाँ है”

समझते भी हो, इतराते भी, लफ़्ज़ों की लड़ी है साथ, साथ है ख़ामोशी की खंकार भी, मनाते भी हो, छेड़ने का कोई अवसर गंवाते भी नहीं, फिक्र करते हो, ‘नहीं तो’ कहने से कतराते भी नहीं, हर कदम साथ हो, नाराज़ होने पर, चेहरे की  अभिव्यक्ति छिपाते भी नहीं, छिप कर हमारे साथ होने की […]

Read More
  • 17
  • 237
  • 0