28.1 C
New Delhi
Thursday, September 29, 2022
Home Poetry Page 4

Poetry

” Read and visualize experiences in this beautiful journey of mine and others called Life! “

चाँद चाँद

कोई चाँद चाँद कहता रहा,कोई चाँद को अपना बना बैठा,कोई चाँद को तस्वीर में उतार चला,कोई चाँद को रस्मों में बांधता चला,कोई चाँद को देखने की फ़िराक में, बादलों को गले लगाता चला,कोई उड़ान भरता है ये...

बचपन में गर्मी की दोपहर

बरसों पहले जब गर्मी का मौसम आता था ,बचपन क्या मज़े उठाता था ,भीग जाती थी मासूम सी सूरत,उस गीलेपन में खेल खिलाता था,माँ कहती थी -‘चल आ मदद कर हमारी’,छत की तपती ज़मीन पे, आलू के पापड़...

Sunset Messages

Every sunset gives a new dream,A new hope,A new perspective,A new thought.It makes us believe how beautiful is life,And if we observe and live slowly and steadily, respectively,We tend to believe deep in our hearts,The value of...

Stay connected

1,436FansLike
589FollowersFollow
71SubscribersSubscribe
New Delhi
haze
28.1 ° C
28.1 °
28.1 °
74 %
0kmh
0 %
Wed
30 °
Thu
36 °
Fri
37 °
Sat
37 °
Sun
36 °
- Communication-