" Read and visualize experiences in this beautiful journey of mine and others called Life! "

Month: March 2017

मैंने देखा है

      मैंने देखा है,     दिन को सांझ होते हुए,     मैंने देखा है,     कली को फूल बनते हुए,     मैंने देखा है,     राह चलते मंजिल मिलते हुए,     मैंने देखा है,     इक्त्फाक होते हुए,     वो बिन मौसम बरसात,     […]

Read More
  • 30
  • 1064
  • 5

[mainedekhahai]